Tuesday, June 15, 2021
Home धर्म shiv chaturdashi in hindu panchang known as shivratri

shiv chaturdashi in hindu panchang known as shivratri

हर माह में आती हैं दो चतुर्दशी…

पुराणों में चतुर्दशी (चौदस) के देवता भगवान शंकर माने गए हैं। वहीं हर महीने के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को शिवरात्रि कहते हैं। मान्यता के अनुसार यह तिथि भगवान शंकर की पूजा के लिए विशेष होती है। ऐसे में इस दिन lord Shiv की पूजा करने से मनुष्य समस्त ऐश्वर्यों को प्राप्त कर बहुत से पुत्रों और प्रभूत धन से संपन्न हो जाता है।

उग्रा चतुर्दशी विन्द्याद्दारून्यत्र कारयेत्।
बन्धनं रोधनं चैव पातनं च विशेषतः।।

हिंदू कलैंडर के अनुसार हर माह में 2 चतुर्दशी होने के चलते एक वर्ष में 24 chaturdashi होती हैं। इन चतुर्दशी को चौदस भी कहते हैं। ऐसे में इस बार ज्येष्ठ मास की कृष्ण चतुर्दशी यानि 8 जून 2021 मंगलवार को मासिक शिवरात्रि का व्रत रखा जाएगा, यह चतुर्दशी तिथि 8 जून को 11:24AM से शुरु होगी और 9 जून बुधवार को दोपहर 1:57PM पर समाप्त होगी।

MUST READ – सोम प्रदोष 07 जून 2021 को, जानें इस दिन क्या करें व क्या न करें

https://www.patrika.com/festivals/som-pradosh-2021-what-to-do-and-what-don-t-6880728/

वहीं इस बार इस मासिक शिवरात्रि के दिन यानि 08 जून को Bhagwan Shankar की पूजा के लिए शुभ समय रात 12 बजे से लेकर 12 बजकर 40 मिनट तक, यानि कुल 40 मिनट का ही मुख्य समय है।

जानकारों के अनुसार चतुर्दशी तिथि की दिशा पश्‍चिम है और पश्‍चिम के देवता शनि हैं। वहीं चतुर्दशी तिथि चन्द्रमा ग्रह की जन्मतिथि भी है। माना जाता है कि चतुर्दशी की अमृतकला को स्वयं भगवान शिव ही पीते हैं।
शिव चतुर्दशी व्रत में भगवान Shiv के साथ माता पार्वती, गणेश जी, कार्तिकेय जी और शिवगणों की पूजा का महत्व है। इस दिन शिव पंचाक्षरी मंत्र – ‘नम: शिवाय ॐ नम: शिवाय‘। का जाप करना चाहिए।

ये कार्य वर्जित है इस दिन…
पुराणों के अनुसार अमावस्या, पूर्णिमा, संक्रांति, चतुर्दशी और अष्टमी, रविवार श्राद्ध और व्रत के दिन स्त्री सहवास और तिल का तेल, लाल रंग का साग और कांसे के पात्र में भोजन करना निषेध है।

Must read- ज्येष्ठ कृष्ण अमावस्या के दिन वट सावित्री व्रत की विधि,कथा और शुभ मुहूर्त

https://www.patrika.com/astrology-and-spirituality/vat-savitri-date-2021-puja-method-story-and-auspicious-time-6878190/

वहीं पुराणों में पांच चतुर्थियों का विशेष महत्व माना गया है- इनमें भाद्रपद शुक्ल की अनंत चतुर्दशी, कार्तिक कृष्ण की रूप या नरक चतुर्दशी, कार्तिक शुक्ल की बैकुण्ठ चतुर्दशी, वैशाख शुक्ल माह की नरसिंह चतुर्दशी और शिव चतुर्दशी को खास माना गया है।

ऐसे में अनंत चतुर्दशी के दिन भगवान अनंत (विष्णु) की पूजा का विधान है। इस दिन अनंत सूत्र बांधने का विशेष महत्व होता है। जबकि कार्तिक कृष्ण चतुर्दशी के दिन नरक चौदस या नर्क चतुर्दशी आती है। इस दिन यमदेव की पूजा का विधान है।

इसके अलावा कार्तिक माह की शुक्ल पक्ष की चतुर्दशी को बैकुण्ठ चतुर्दशी कहते हैं। इस दिन भगवान शिव और विष्णु की पूजा का विधान है। माना जाता है कि इस दिन पूजा, पाठ जप और व्रत करने से श्रद्धालु को बैकुंठ की प्राप्ति होती है।

must read- ज्येष्ठ माह में लगातार 02 दिन भगवान शिव की पूजा के लिए अति विशेष

https://www.patrika.com/dharma-karma/jyeshth-som-pradosh-and-masik-shivratri-date-muhurat-and-importance-6877062/

चतुर्दशी तिथि क्यों है खास?
धार्मिक पुस्तकों के अनुसार इस तिथि में भगवान शंकर की शादी भी हुई थी। इसलिए रात में भगवान शिव की बारात निकाली जाती है। रात में पूजा कर फलाहार किया जाता है। जबकि अगले दिन सुबह के समय जौ, तिल, खीर और बेल पत्र का हवन करके व्रत समाप्त किया जाता है।

इसके अलावा ईशान संहिता के अनुसार फाल्गुन मास की कृष्ण चतुर्दशी (जिसे महाशिवरात्रि भी कहते हैं) की रात आदि देव भगवान श्रीशिव करोड़ों सूर्यों के समान प्रभा वाले लिंगरूप में प्रकट हुए थे। इसीलिए भी चतुर्दशी तिथि का विशेष महत्व है। वहीं श्रावणमास की चतुर्दशी को शिवरात्रि, जबकि बाकी सभी चतुर्दशी को मासिक शिवरात्रि कहते हैं।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

अपनी स्थानीय खबर प्रस्तुत करें

Most Popular

Rajiv Vasudevan: Ministry Of Ayush Organises Series Of Five Webinars On Ayurved And Health With Amar Ujala – वेबिनार: कोविड-19 के उपचार में आयुर्वेद...

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: दीप्ति मिश्रा Updated Tue, 15 Jun 2021 09:42 AM IST राजीव वासुदेवन, सदस्य, आयुर्वेद हॉस्पिटल और आयुष एडवाइजरी...

गावस्कर का मानना, अश्विन-जडेजा गेंद के साथ बल्ले से भी निभा सकते हैं अहम भूमिका

पूर्व भारतीय कप्तान सुनील गावस्कर ने कहा है कि भारत को न्यूजीलैंड के खिलाफ होने वाले विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) फाइनल को जीतना चाहिए। Source...

VIDEO: गोलियों की गूंज से थर्राया अंबाला, बदमाशों ने युवक की पीठ और सीने में मारी 8 गोलियां, मौत

Murder in Ambala: कुम्हार मंडी का रहने वाला ग्वाला जीतू हाथीखाना मंदिर के पास पशुओं को बांधने के लिए आया था. इसी दौरान बाइक...

यूपी चुनाव से पहले अखिलेश यादव को बड़ा झटका, इस मामले में बुरी तरह पिछड़े – bhaskarhindi.com

यूपी चुनाव से पहले अखिलेश यादव को बड़ा झटका, इस मामले में बुरी तरह पिछड़े - bhaskarhindi.com Source link

Recent Comments

Need Help? Chat with us