Friday, May 7, 2021
Home हेल्थ कोविड के खिलाफ लड़ाई में ऐतिहासिक लेडी हार्डिंग का योगदान अहम: डॉ....

कोविड के खिलाफ लड़ाई में ऐतिहासिक लेडी हार्डिंग का योगदान अहम: डॉ. हर्ष वर्धन

नई दिल्ली। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन ने शनिवार को लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज (एलएचएमसी) के दीक्षांत समारोह में विद्यार्थियों को वर्चुअल माध्यम से संबोधित किया। इस अवसर पर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अश्वनी कुमार चौबे उपस्थित थे। इस मौके पर डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि लेडी हार्डिंग एक ऐतिहासिक संस्थान है। एलएचएमसी उस समय स्थापित किया गया जब दिल्ली में कनॉट प्लेस, संसद और राष्ट्रपति भवन नहीं बने थे। स्वतंत्रता के समय और इसके कई वर्ष तक एलएचएमसी देश का एकमात्र मेडिकल कॉलेज बना रहा। पिछले 104 वर्ष के अस्तित्व में ये संस्थान हमारे देश में महिला सशक्तिकरण का एकमात्र चिन्ह बना रहा। 

कोविड के खिलाफ लड़ाई में इस कॉलेज के योगदान की सराहना करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा लेडी हार्डिंग दिल्ली में पहला सरकारी संस्थान था जिसने आरटीपीसीआर जांच के लिए अति उन्नत केंद्र स्थापित किया। उन्होंने कहा कि कोरोना की इस अवधि में भी एलएचएमसी ने कैंसर के लिए कीमोथेरेपी सेवाएं और थेलेसीमिया के लिए रक्त संचरण समेत पूर्ण आवश्यक सेवाएं जारी रखीं और अन्य गैर कोविड रोगियों का उपचार भी किया जाता रहा। उन्होंने यह भी कहा कि विश्वास दिलाना चाहूंगा कि हमारा पूर्ण सहयोग और सहायता चरण एक के अंतर्गत तैयार किए जा रहे अस्पताल भवनों के इन तीन ब्लॉक को पूर्ण करने और चालू करने में बना रहेगा। हम यह भी सुनिश्चित करेंगे कि चरण दो, तीन और चार का पुनर्विकास मास्टर प्लान शीघ्र पूर्ण किया जाए ताकि नेफरोलॉजी, यूरोलॉजी, कार्डियोलॉजी, कार्डियोथोरारिक सर्जरी और न्यूरो सर्जरी जैसी विशेष सेवाएं एलएचएमसी में उपलब्ध हो सके।

उन्होंने सभी विद्यार्थियों को स्मरण कराया कि चिकित्सा केवल पेशा नहीं है, अपितु आजीविका भी है। आपको कभी सीखने में रूकना नहीं है और अपने ज्ञान और दक्षता को सदैव लगातार उन्नत बनाना होगा। साथ ही रोगियों के उपचार के समय करुणा प्रदर्शित करना भी महत्वपूर्ण है। अपनी या रोगियों की मानवता के बारे में कभी नहीं भूले, रोगी इंसान हैं न कि शरीर के विशेष अंगों का संकलन।
डॉ. हर्ष वर्धन ने कहा कि आज जिन विद्यार्थियों को डिग्री से सम्मानित किया जा रहा है, वे अपने पूर्व के छात्रों की विरासत को आगे ले जाएंगे और चिकित्सा सेवा के क्षेत्र में अपना नाम रोशन करेंगे और इस तरह संस्थान की गरिमा बढ़ाएंगे। इस मौके पर 197 स्नातक विद्यार्थियों और 129 स्नात्तकोत्तर विद्यार्थियों और 7 पोस्ट डॉक्ट्रल को डिग्री से सम्मानित किया गया। दीक्षांत समारोह में स्वास्थ्य और कल्याण मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण और स्वास्थ्य सेवाओं के महानिदेशक डॉ. सुनील कुमार ने वर्चुअल माध्यम से भाग लिया। 

यह खबर भी पढ़े: Farmers Protest: किसानों ने किया सरकार से आर-पार की लड़ाई लड़ने का ऐलान, सिर मुंडवाकर विरोध दर्ज कराया

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

अपनी स्थानीय खबर प्रस्तुत करें

Most Popular

'तमस' सीरियल के लिए नेशनल अवॉर्ड जीतने वाले संगीतकार वनराज भाटिया ने दुनिया को कहा अलविदा

वनराज भाटिया 94 साल के थे। उन्होंने श्याम बेनेगल की फिल्म ‘अंकुर’ और ‘भूमिका’ तथा धारावाहिक ‘यात्रा’ और ‘भारत एक खोज’ का संगीत दिया। Source...

कोविड-19 के कारण टी20 विश्व कप के तीन यूरोपीय क्वालीफायर हुए रद्द

ऑस्ट्रेलिया में 2022 में होने वाले टी20 विश्व कप के तीन क्षेत्रीय यूरोपीय क्वालीफायर्स को कोविड-19 महामारी के कारण रद्द कर दिया गया है।  Source...

Sbi And Hdfc Bank Service Close Tonight Sbi Yono Upi And Other Digital Services To Be Affected On May 7 – Sbi और Hdfc...

बिजनेस डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: ‌डिंपल अलावाधी Updated Fri, 07 May 2021 12:35 PM IST सार आज रात देश के सबसे बड़े सरकारी...

When Gabbar Singh reached the hospital from Mavai village, the oxygen level remained at 75 percent, doctors said, take it home, the bed is...

Hindi NewsLocalMpGwaliorMorenaWhen Gabbar Singh Reached The Hospital From Mavai Village, The Oxygen Level Remained At 75 Percent, Doctors Said, Take It Home, The Bed...

Recent Comments

Need Help? Chat with us